News

शादी से पहले बच्चा नहीं तो शादी भी नहीं

अगर शादी से पहले बच्चा नहीं तो शादी भी नहीं होगी |जी है ऐसा ही कुछ है भारत की एक ऐसी जनजाति जहाँ सब कुछ रजामंदी से होता है | और अगर रहे असफल तो शादी टूट जाती है |

आजतक हमने बॉलीवुड और हॉलीवुड में ही इन किस्सों के बारे में सुना है जो शादी से पहले ही प्रेग्नेंट हो गईं थीं। मगर ऐसा कुछ रियल लाइफ में हो जाए तो उसे हमारे समाज के लिए मानना कतई मुमकिन ना होगा । आज हम आपको भारत की एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां शादी से पहले लिव इन रिलेशनशिप में रहना बेहद जरूरी माना जाता है। हद है ना ?… इतना ही नहीं लिव इन रिलेशनशिप में रहते हुए उन्हें बच्चा भी पैदा करना उनकी शादी के लिए बेहद जरूरी होता है। लो जी अब रहने के साथ बच्चा भी करो | यहां पर लड़का और लड़की पहले लिव इन रिलेशनशिप में रहते हैं। फिर बच्चा पैदा होने के बाद दोनों की शादी रचाई जाती है।

हम बात कर रहे हैं गरासिया जनजाति की। अधिकतर यह जनजाति राजस्थान के उदयपुर, सिरोही, पाली के साथ-साथ गुजरात में रहती है। इस परंपरा के अनुसार लड़का-लड़की को एक साथ रहकर पहले बच्चा पैदा करना होता है। अगर वह ऐसा करने में असफल हो जाते हैं तो उन्हें शादी करने की इजाजत नहीं दी जाती है। इस परंपरा को यहां के लोग सदियों से लेकर अब तक निभा रहे हैं। यह लोग गुजराती, भीली, मेवाड़ी और मारवाड़ी भाषाओं को बोलते हैं। कई बार लोग इस रिवाज का गलत इस्तेमाल भी करते हैं। वह ज्यादा बच्चे पैदा करने की इच्छा में अपनी शादी को टालते रहते हैं।

इस परंपरा के पीछे की वजह बेहद दिलचस्प है। कहा जाता है कि इस जनजाति के चार भाई में से 3 ने शादी कर ली और 1 भाई लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगा। जिन भाइयों ने शादी की उनका कोई बच्चा नहीं हुआ जबकि लिव इन रिलेशनशिप में रहने वाले भाई को समय पर ही बच्चा हो गया। इसके बाद से ही शादी से पहले लिव इन रिलेशनशिप में रहने की परंपरा यहां रहने वाले लोगों ने अपना ली।
दापा प्रथा के नाम से जाने वाले इस परंपरा के मुताबिक अगर किसी लड़का को कोई लड़की पसंद है तो वह उसे लेकर भाग जाता है और लिव इन रिलेशनशिप में रहना शुरू कर देता है। इस दौरान अगर वह बच्चा पैदा करने में सफल होता है तो ही उसकी शादी करवाई जाती है।